12 मार्च, 2011

परमाणु ऊर्जा कितनी सुरक्षित?


परमाणु ऊर्जा कितनी सुरक्षित?
बिजली जीवन के लिये अनिवार्य आवश्यकता बन चुकी है . सर्वोत्तम तो यह है कि बिजली का उत्पादन सौर उर्जा से , विंड पावर से , या जल उर्जा से ही हो . किंतु जब तापउर्जा की बात आती है तो कोयले की अपेक्षा परमाणु उर्जा से बनाई गई बिजली अपेक्षाकृत सस्ती तथा नियंत्रित प्रदूषण वाली लगती है . पर जब यह नियंत्रित विकिरण चेरनेविल या जापान जैसे कारणो से अनिंयंत्रित हो तो यह किसी परमानू बम से कम नही है . रिएक्टर और भी सुरक्षित बनाये जाना जरूरी है . जापान में आए भूकंप और उसके बाद सुनामी लहरों के प्रलय में एक परमाणु संयंत्र को ज़बरदस्त नुक़सान हुआ है. इस संयंत्र में भयंकर विस्फोट हुआ है और अधिकारियों ने उसके आसपास साठ किलोमीटर के दायरे को निषिद्ध क्षेत्र घोषित कर दिया है. हालाँकि जापान सरकार इस नाभिकीय दुर्घटना को हलका फुलका बताकर टालने की कोशिश कर रही है, लेकिन अभी तक परमाणु विकिरण के प्रभाव का अंदाज़ा ही नहीं है. इसी तरह अस्सी के दशक में सोवियत संघ के चेर्नोबिल परमाणु ऊर्जा संयंत्र में हुई दुर्घटना का ख़ामियाज़ा आज तक वहाँ के लोग भुगत रहे हैं.भारत में हम अभी नई परमाणु बिजली परियोजनाओ पर काम शुरू करने को हैं अतः हमें इससे सीख लेने की बहुत जरूरत है.

3 टिप्‍पणियां:

  1. बस देखते जाओ भारत में भी कुछ सालों में ...........

    उत्तर देंहटाएं
  2. your thought have a great weight. rally we should learn from the present for securing the future.

    उत्तर देंहटाएं

स्वागत है आपकी प्रतिक्रिया का.....