10 जून, 2009

जबलपुर शहर में शुरू हुई स्पॉट बिलिंग...एल एन उपाध्याय


  • जबलपुर शहर में शुरू हुई स्पॉट बिलिंग

    पहले मीटर की रीडिंग लेने उपभोक्ता के घर जाना, फिर बिल घर पहुंचाने की जिम्मेदारी, इस दोहरी व्यवस्था में होने वाली समय की बर्बादी को देखते हुए पूर्व क्षेत्र कंपनी ने अब स्पॉट बिलिंग की नई व्यवस्था शहर में लागू की है। इसके अंतर्गत एक डिवीजन में बतौर प्रयोग इसे अमल में लाया गया है।

    बिजली उपभोक्ताओं को मैन्यूअल काम के दौरान आने वाली शिकायतों को दूर करने के लिए सिटी सर्किल की साउथ डिवीजन में स्पॉट बिलिंग का काम प्रयोग बतौर शुरू किया गया है और अगर यह कार्य सफल सिद्ध होता है, तो इसे सभी जगह लागू किया जाएगा। फिलहाल इस काम के लिए बेंगलुरू की एक निजी कंपनी को ठेका दिया गया है, जिसके कर्मचारी उपभोक्ताओं के घर-घर जाकर स्पॉट बिलिंग कर रहे हैं। साउथ डिवीजन के लगभग पांच हजार उपभोक्ताओं के नए बिल बंटना शुरू हो गए हैं।

    हैंडी कंप्यूटर निकालेगा बिल

    इस सुविधा के तहत घर पहुंचने वाले कर्मचारी के हाथ में एक हैंडी कंप्यूटर होगा, जिसमें उपभोक्ता के बिल संबंधी पूरी जानकारी फीड होगी। सिर्फ नई १रीडिंग भरकर एक बटन दबाते ही नया बिल मौके पर ही जारी हो जाएगा। नए सिस्टम के तहत कर्मचारी पुरानी रीडिंग से छे़ड़छा़ड़ नहीं कर पाएगा, इससे मीटर में दर्शाई गई रीडिंग भरने के बाद ही नया बिल जारी होगा।

    बदला बिल का साइज

    अब तक घर पहुंचने वाले एक पेज के बिल साइज को भी अब बदल दिया गया है। इस नई व्यवस्था के तहत अब बिल मीटर स्लिप के रूप में होगा, जिसमें संपूर्ण जानकारी दी गई है।

    शहर में स्पॉट बिलिंग का काम साउथ डिवीजन में शुरू किया गया है, सब कुछ ठीक रहा तो इसे सभी जगह लागू किया जाएगा।


    एल एन उपाध्याय
    एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी
    jabalpur

2 टिप्‍पणियां:

  1. स्पाट बिलिंग का कार्य सराहनीय है इससे उपभोक्ताओ को राहत मिलेगी . मध्यप्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड का प्रयास सराहनीय है . अच्छी जानकारी देने के लिए आपका आभारी हूँ .

    महेन्द्र मिश्र
    जबलपुर.

    उत्तर देंहटाएं
  2. विवेक जी

    आपका ब्लाग काफी पसंद आया। आप ब्लागरों और हिंदी मानस को एक दूसरे रास्ते से समृद्ध कर रहे हैं। बिजली के उपभोग से हमारा जीवन बदला है। इस सामान्य जानकारी के आगे हम बहुत कम जानते हैं। बिजली चोरी और इसके ज़रिये समाज में झांकने की कोशिश करता हुआ लगा आपका ब्लाग। आप इसे लगातार अपडेट कीजिए। समझने में मदद मिलेगी। बहुत संभावनायें हैं। पुलिस थाने की बात पसंद आई। बिजली की कमी और उसके इस्तमाल को लेकर जो आराजकता है उसे और गहराई से समझने में मदद मिलेगी।

    उत्तर देंहटाएं

स्वागत है आपकी प्रतिक्रिया का.....